वैश्विक निवेशक सम्मेलन के मेहमानों के लिए ये रिसॉर्ट तैयार, परोसे जाएंगे पहाड़ी व्यंजन…

राजधानी देहरादून में आठ दिसंबर से शुरू हो रहे दो दिवसीय वैश्विक निवेशक सम्मेलन के लिए उत्तराखंड तैयार हो गया है। मेहमानों के रहने खाने  के लिए विशेष व्यवस्थाएं की गई है। वहीं आज मुख्यमंत्री धामी ने अधिकारियों को देश-विदेश से आने वाले सभी निवेशकों को अतिथि देवो भव: की भावना के साथ समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। बताया जा रहा है कि आने वाले देशी-विदेशी मेहमानों को देश के पहले कंजर्वेशन रिजर्व एवं उत्तराखंड की पहली रामसर साइट आसन वेटलैंड में जीएमवीएन का रिसॉर्ट व बोटिंग केंद्र में तैयारियां की गई है। इन मेहमानों को पहाड़ी व्यंजन परोसे जाएंगे।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार निवेशक सम्मेलन के बाद अतिथियों को उत्तराखंड की पहली रामसर साइट आसन वेटलैंड की सैर कराने की योजना है। जीएमवीएन के रिसॉर्ट सेंटर पर अतिथियों को पहाड़ी व्यंजन परोसने की तैयारी पर्यटन विभाग के माध्यम से की जा रही है। आपको बता दें कि आसन वेटलैंड देश का पहला कंजर्वेशन रिजर्व यानी संरक्षित अभयारण्य है। इन दिनों वेटलैंड की झील में हजारों की संख्या में विदेशी परिंदे आए हुए हैं। उच्च हिमालयी क्षेत्रों के पक्षी भी यहां प्रवास पर हैं। प्राकृतिक सुंदरता से परिपूर्ण झील में अठखेलियां करते विदेशी परिंदों को देखना व पैडल बोट का आनंद लेना बेहद रोमांचक होता है। दून आने वाले मेहमान इसका लुत्फ उठा सकेंगे।

वहीं बताया जा रहा है कि वैश्विक निवेशक सम्मेलन में उत्तराखंडी व्यंजनों की खुशबू भी खूब बिखरेगी। सम्मेलन के फूड कोर्ट का जिम्मा ताज ग्रुप को सौंपा गया है और उसने मेन्यू को अंतिम रूप दे दिया है।सम्मेलन में देश-विदेश से आने वाले मेहमान उत्तराखंडी कढ़ी, पहाड़ी पालक की काफली, गहथ की दाल, झंगोरे की खीर, सिंगोरी, बाल मिठाई, कुमाऊंनी खट्टा-मीठा कद्दू, बाजरे की रोटी व खिचड़ी, पहाड़ी तड़के वाली दाल, जैसे तमाम व्यंजनों का स्वाद चखेंगे। इसके साथ ही सम्मेलन के दौरान परोसे जाने वाले भोजन में मिलेट, यानी मोटा अनाज के व्यंजनों पर अधिक जोर दिया गया है।

वहीं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 को लेकर शासकीय आवास पर उच्च अधिकारियों के साथ बैठक कर प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी के उत्तराखण्ड दौरे एवं वैश्विक निवेशक सम्मेलन के शुभारंभ समारोह हेतु की जा रही सभी तैयारियों की समीक्षा की। इस दौरान  मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड के विकास के दृष्टिगत वैश्विक निवेशक सम्मेलन एक महत्वपूर्ण सोपान है जो “सर्वश्रेष्ठ उत्तराखण्ड” की यात्रा में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।