‘मसूरी विंटर लाइन कार्निवाल’ की आज से शुरूआत, ये सब रहेगा खास…

उत्तराखंड के मसूरी में होने वाले ‘मसूरी विंटर लाइन कार्निवाल’ की आज से शुरूआत होने वाली है। उत्तराखंड के मसूरी में व‍िंटर लाइन का नजारा देखने के लिए देश की राजधानी दिल्ली सहित देश के कोने-कोने से सैलानी यहां पहुंचते हैं। पहाड़ों की रानी कहे जाने वाले इस शहर की प्राकृतिक खूबसूरती को दिखाने और यहां के कल्चर को लोगों तक पहुंचाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। 27 दिसंबर से 30 दिसंबर तक होने वाले इस आयोजन में उत्तराखंड की संस्कृति के खूबसूरत रंग दिखाने के लिए रंगारंग कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। पर्यटकों के लिए यह बहुत खास अनुभव होगा। आइए जानते है क्या होगा खास

मिली जानकारी के अनुसार मसूरी में विंटर लाइन कार्निवल मसूरी महोत्सव समिति की ओर से विंटर लाइन कार्निवल का आयोजन 27 दिसंबर से 30 दिसंबर तक किया जा रहा है। माना जाता है कि विंटर लाइन दुनिया में सिर्फ भारत के मसूरी, दक्ष‍िण अफ्रीका के केप टाउन और स्विट्जरलैंड में ही दिखाई देती है। कॉर्निवाल में स्टार नाइट के पहले दिन रात सात बजे पद्मश्री बसंती बिष्ट और रात आठ बजे लोक गायिका रेशमा शाह, रुहान भारद्वाज टाउन में अपने कार्यक्रम की प्रस्तुति देंगी। आज सुबह साढ़े आठ बजे इंटेक बर्ड वॉकिंग के साथ कार्निवाल के कार्यक्रम की शुरुआत की गई। लंढौर बाजार में हेरिटेज वॉक के बाद सर्वे मैदान से 12 बजे सांस्कृतिक शोभायात्रा लंढौर होते हुए मालरोड और लाइब्रेरी तक पहुंचेगी। लाइब्रेरी चौक पर आईटीबीपी, सीआरपीएफ के बैंड की प्रस्तुति देंगे। फूड फेस्टिवल के लिए स्टॉल लगाए जा रहे हैं।

वैसे तो पहाड़ों की रानी मसूरी की प्राकृतिक खूबसूरती का कोई जवाब नहीं है लेकिन इस पहाड़ी शहर को नेचर ने कई खूबसूरत और भी नजारे दिए हैं। मसूरी में नवंबर माह से लेकर फरवरी के बीच कभी-कभी सूर्यास्त के बाद एक अनोखा नजारा पश्चिम दिशा के आसमान की ओर प्रकट होता है।एक रंग उभरता है मानों कुदरत ने ये तस्वीर सिर्फ मसूरी के लिए ही खींची हो। इसी रेखा को विंटर लाइन कहते हैं। जो भी इस रंगीन रेखा को देखता है, बस देखता ही रह जाता है।