टिहरीः विनय डंगवाल सर्वश्रेष्ठ एनसीसी कैडेट बनने के बाद अब वायुसेना में बने ऑफिसर…

उत्तराखंड के टिहरी जिले के युवा अपनी मेहनत लगन और हिम्मत से हर क्षेत्र में प्रदेश का नाम रोशन कर रहे है। इस कड़ी में एक नाम और जुड़ गया है। ये नाम है टिहरी के विनय डंगवाल का। बताया जा रहा है कि विनय डंगवाल सर्वश्रेष्ठ एनसीसी कैडेट बनने के बाद अब वायुसेना में ऑफिसर बन गए है। उनकी इस उपलब्धि से उन्हें बधाई देने वालों का तांता लग गया है तो वहीं प्रदेश को उन पर गर्व है।

मिली जानकारी के अनुसार टिहरी जिले के विनय डंगवाल भी भारतीय वायुसेना का हिस्सा बन गए हैं। बताया जा रहा है किउनके पिता संजय डंगवाल भी भारतीय सेना का हिस्सा रहें थे और पिता को देखकर विनय के अंदर सेना में जाने की ललक पैदा हुई। पिता को देख उनका बचपन से ही भारतीय सेना में शामिल होने का सपना था जो पूरा हो गया हैं। जबकि मां का नाम राजेश्वरी डंगवाल है। विनय डंगवाल के भाई बिपिन डंगवाल सॉफ्टवेयर इंजीनियर के रूप में कार्यरत हैं। 2015 में विनय को स्काउट गाइड के लिए राष्ट्रपति सम्मान मिला था।

बताया जा रहा है कि विनय ने केंद्रीय विद्यालय देहरादून से 2016 में हाईस्कूल और 2018 में इंटर उत्तीर्ण किया। इसके बाद उन्होंने देहरादून से बीएससी और एमसीए की पढ़ाई पूरी की। साल 2019 में विनय डंगवाल सर्वश्रेष्ठ एनसीसी कैडेट भी चुने गए थे। विनय की कामयाबी पर पूरा परिवार खुश है और पासिंग आउट परेड के दौरान उनके साथ रहा। पासिंग आउट परेड के दौरान पूरा परिवार उनके साथ था और बेहद खुश नजर आया।

गौरतलब है कि भारतीय सेना का नाम आते ही उत्तराखंड की बात होने लगती है। उत्तराखंड और भारतीय सेना का नाता काफी पुराना है। यही कारण है कि उत्तराखंड के हजारों युवा भारतीय सेना का हिस्सा बनने का सपना देखते हैं। ये ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। पहाड़ के बेटे और बेटियां देश सेवा में जाकर राज्य का नाम रोशन कर रहे हैं।