उत्तराखंडः विजिलेंस ने किया दरोगा को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार…

उत्तराखंड पुलिस विभाग से बड़ी खबर है। विजिलेंस ने भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार करते हुए एक दरोगा को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि मामला उधम सिंह नगर के केलाखेड़ा थाने का है। जहां तैनात दरोगा मोहन बोरा रिश्वत ले रहे थे कि इस दौरान विजलेंस ने उन्हें रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया। विजिलेंस की इस कार्रवाई से पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया है।

मिली जानकारी के अनुसार उधम सिंह नगर केलाखेड़ा थाने में तैनात दरोगा मोहन बोरा ने बाजपुर के गांव गणेशपुर निवासी एक व्यक्ति से चार हजार रुपये रिश्वत मांगी थी। बताया जा रहा है कि  शिकायतकर्ता ने सतर्कता अधिष्ठान के टोल फ्री हैल्पलाईन नम्बर 1064 पर शिकायत अंकित करायी गयी कि उसका अपने गांव गणेशपुर में मकान बन रहा है, जिसके लिये उसने अपने पड़ोसियों से लाईट ली हुयी थी जिस कारण बिजली विभाग के जे0ई0 द्वारा बिजली चोरी करने का आरोप लगाते हुये उसके विरुद्ध थाना कैलाखेड़ा में शिकायत दर्ज करायी गयी है। जिस पर कैलाखेड़ा थाने में तैनात उ0नि0 मोहन सिंह बोहरा द्वारा मुकदमा न लिखने के एवज में 4000/- रूपये की माँग की जा रही है। शिकायतकर्ता रिश्वत नहीं देना चाहता था, भ्रष्ट कर्मचारी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही चाहता था ।

मामले में शिकायत पर एक्शन लेते हुए हल्द्वानी से पहुंची विजिलेंस टीम ने सब इंस्पेक्टर मोहन सिंह बोरा को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जायेगा । वहीं आम जन से अपील की गई है कि भ्रष्टाचार का शिकार न हो बल्कि सतर्कता अधिष्ठान के टोल फ्री हैल्पलाईन नं0 1064 एवं Whatsapp हैल्पलाईन न0 9456592300 पर 24X7 पर सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के विरूद्ध अभियान में अपना महत्वपूर्ण योगदान दें।