उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट के तहत सीएम ने किए इतने करोड़ के एमओयू हस्ताक्षरित…

उत्तराखंड में जहां डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट को लेकर तैयारियां तेज है,वहीं इसके तहत आज सचिवालय में आयोजित उत्तराखण्ड एनर्जी कॉन्क्लेव में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी की उपस्थिति में 40 हजार करोड़ रुपये से अधिक के एमओयू हस्ताक्षरित किये गये। सीएम ने उत्तराखण्ड एनर्जी कॉन्क्लेव में आये सभी लोगों को समिट के लिए आमंत्रित किया। उन्होंने कहा कि आगामी 08 और 09 दिसम्बर को डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन किया जा रहा है। जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में निवेश बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। औद्योगिक जगत से जुड़े लोगों के सुझावों के तहत 27 नई नीतियां बनाई गई है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी का राज्य को लगातार मार्गदर्शन मिल रहा है। प्रधानमंत्री के वाइब्रेंट गुजरात की प्रेरणा से ही प्रदेश में डेस्टिनेशन उत्तराखण्ड पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि आज कॉन्क्लेव में प्राप्त सभी सुझावों पर गंभीरता से अमल किया जाए।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि उत्तराखण्ड में ऊर्जा के क्षेत्र में कार्य करने के लिए अपार संभावनाएं हैं। उन्होंने कहा कि राज्य में उद्योग स्थापित करने वाले लोगों के साथ राज्य सरकार सहयोगी के रूप में कार्य करेगी। उन्होंने कहा कि देवभूमि उत्तराखण्ड में कार्य करने की अपार संभावनाएं हैं, सबको संभावनाओं का सदुपयोग करना है। उन्होंने कहा कि राज्य में निवेश बढ़ने से स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

वही अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने कहा कि राज्य में ऊर्जा के क्षेत्र में कार्य करने की काफी संभावनाएं हैं, इसके लिए तीनों निगमों को एकजुटता से कार्य करने होंगे। ऊर्जा के क्षेत्र में राज्य में निवेश करने वालों के लिए हर संभव मदद मिल सके, इसके लिए नियमित समीक्षा बैठकें की जायेंगी। गौरतलब है मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वैश्विक निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन करने के लिए पीएम से अनुरोध किया था। जिसके बाद अब प्रधानमंत्री कार्यालय से प्रदेश सरकार को प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में आने की सूचना मिल गई है। इसके साथ ही जिला प्रशासन और पुलिस विभाग प्रधानमंत्री के दौरे से संबंधित सुरक्षा तैयारियों में भी जुट गया है।

वहीं वैश्विक निवेशक सम्मेलन के लिए अब तक लगभग दो लाख करोड़ के निवेश प्रस्ताव पर करार हो चुका है। जिन्हें धरातल पर उतारने की प्रक्रिया चल रही है। देहरादून में निवेशक सम्मेलन के दौरान करीब 400 उद्योगपति रहेंगे।उनके ठहरने का इंतजाम नामी होटलों में किया गया है. अतिथियों और उद्योगपतियों के लिए होटल में हेल्प डेस्क बनाई गई है। सभी अधिकारियों को उनके अतिथियों की सूची उपलब्ध कराई जा रही है। साथ ही निवेशक सम्मेलन में आने वाले उद्योगपतियों की मेहमान नवाजी में कोई कसर न रहे, इसके लिए प्रमुख उद्योगपति के समूह के साथ आईएएस और पीसीएस अधिकारियों को लायजन अधिकारी के रूप में तैनात किया जा रहा है।