टिहरी: सचिव मुख्यमंत्री डॉक्टर सुरेंद्र पांडे ने किया योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण, कही ये बात…

सचिव, मुख्यमंत्री, आवास एवं वित्त विभाग उत्तराखण्ड शासन डॉ. सुरेन्द्र नारायण पाण्डे ने जनपद भ्रमण के दूसरे दिन विकासखण्ड घनसाली क्षेत्रान्तर्गत विभिन्न विकास परक योजनाओं का स्थलीय निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने ग्राम असेना की असीना पेयजल योजना का निरीक्षण एवं पेयजल स्रोत का जायजा लेते हुए ग्रामीणों से वार्ता कर पेयजल की स्थिति एवं योजना से लाभान्वित लोगों की जानकारी ली।

इसके उपरान्त सचिव ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पिलखी पहुंच कर विभिन्न कक्षों/वार्डों एवं उपकरणों के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुये एक्स-रे रूम और पैथोलॉजी लैब का निरीक्षण करते हुउ कोविड टेस्ट की जानकारी लेते हुए स्वास्थ्य सुविधाओं को सुचारित ढंग से संचालित करने के निर्देश दिये। इसके बाद उन्होंने ग्राम पंचायत पिलखी के बौर गांव में 8.5 लाख की लागत से बनी डेढ़ किलोमीटर लंबी और 40 सेमी चौड़ाई वाली बौर नहर का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने अधिशासी अभियन्ता, सिंचाई अनूप व ग्रामीणों से नहर से लाभान्वित लोगों/गांवों की जानकारी तथा फसल उत्पादन में वृद्वि सम्बन्धी जानकारी ली।

सचिव पाण्डे ने घनसाली विधानसभा क्षेत्र के बूढ़ाकेदारनाथ मंदिर पहुंच कर पूजा अर्चना कर पांडव शीला के दर्शन कर आशीर्वाद लिया तथा अकेले में गर्भ गृह में मौन आसन धारण करके कुछ समय बिताया। इस अवसर पर मंदिर प्रांगण में बूढ़ा केदार नाथ मंदिर समिति द्वारा सचिव का जोरदार स्वागत कर मंदिर के इतिहास की पूरी पठकथा बताई। मंदिर प्रांगण से बाहर निकलते ही बाल गंगा और धर्म गंगा के बीचो-बीच स्थित बूढ़ाकेदारनाथ मंदिर की अलौकिक आकृति और सुंदरता को देखकर सचिव ने प्रसन्न मन से क्षेत्र खूबसूरती व क्षेत्र के लोगों की प्रसंसा की। इस अवसर पर पूर्व क्षेत्र पंचायत सदस्य हिम्मत सिंह रौतेला ने सचिव से उत्तरकाशी के भटवाड़ी-बूढ़ाकेदार मार्ग निर्माण को लेकर चर्चा करते हुये कहा कि अगर यहां मार्ग जल्द बन जाता है तो चार धाम यात्रा और सुगम हो जाएगी।

इस अवसर पर सचिव ने घनसाली विधानसभा क्षेत्र के ग्राम जखन्याली में चौपाल लगाकर जनता की समस्याएं सुनी। इस अवसर पर दर्ज 15 जन शिकायतो का मौके पर निस्तारण किया गया। जन सुनवाई में ग्राम प्रधान जखन्याली ऋषि श्रीयाल ने बताया कि बीते 3 माह से मनरेगा भुगतान लंबित है, उन्होंने चार धाम यात्रियों के लिए गढ़वाल मंडल विकास निगम से अतिथि गृह बनाने की मांग रखी। ग्राम पंचायत सरोली तोक में विद्युत विभाग लटकती हुई तारे और झूलते हुए पोल की समस्या शांति प्रसाद गैरोला और मनोज थपलियाल द्वारा रखी गयी जिस पर सम्बन्धित विभाग को तत्काल कार्यवाही के निर्देश दिये गये। चंद्र मोहन नौटियाल द्वारा ग्राम पंचायत जखन्यली के नौताड़ तोक में पूर्व में बादल फटने से क्षतिग्रस्त हुई भूमि के समतलीकरण, सुधारीकरण एवं सुरक्षा दीवार की मांग की गयी।

सरकार जनता के द्वारा कार्यक्रम में सचिव डॉ. पांडेय ने कहा कि मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को भी गांव-गांव में चौपाल लगाकर समस्याएं सुनने और उनके समाधान करने के लिए निर्देशित किया है। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी व कर्मचारी दो तरफा संवाद कायम करते हुए जनता से सीधे जुड़ें। पात्र व्यक्ति के अपने कार्यालय के चक्कर कटवाने के बजाय क्षेत्र में जाकर पात्र व्यक्तियों को लाभान्वित करने का कार्य करें ताकि सरकार जनता के द्वार की संकल्पना को और अधिक बेहतर ढंग से साकार किया जा सके।

इस मौके पर कनिष्ठ प्रमुख चंद्र मोहन नौटियाल, जिला पंचायत सदस्य रघुवीर सजवाण, मुख्य कृषि अधिकारी अभिलाष भट्ट, एसीएमओ एलडी सेमवाल, ईई जीतमणि बेलवाल, राघव श्रीयाल सोना देवी परमार, राम प्यारी देवी, कृष्णा देवी, बबिता देवी, सोभनी देवी, जयवीर सिंह मियां, मकान सिंह भंडारी समेत कई लोग मौजूद रहे।