प्रधानाध्यापक पर छात्र-छात्राओं ने लगाए गंभीर आरोप, शिक्षा विभाग ने किया निलंबित……

उत्तराखंड में शिक्षा विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। बताया जा रहा है कि यहां एक प्रधानाध्यापक को गंभीर आरोपों में निलंबित किया गया है। प्रधानाध्यापक पर छात्र-छात्राओं के शारीरिक उत्पीड़न का आरोप है। मामले में विभाग ने तीन सदस्यीय जांच समिति गठित की है। जिसने मामले की जांच शुरू कर दी है। वहीं घटना से अभिभावकों में आक्रोश है।

मीडिया रिपोर्टस के अनुसार मामला चमोली का है। बताया जा रहा है कि यहां जिल के एक सरकारी विद्यालय में छात्र-छात्राओं के शारीरिक उत्पीड़न का मामला सामने आया है। इस स्कूल में आसपास के गांवों के 18 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। स्कूल में प्रधानाध्यापक सहित तीन शिक्षक तैनात है। छात्र-छात्राओं ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक पर कमरे में बुलाकर अश्लील हरकतें करने का आरोप लगाया है।उन्होंने मामले की शिकायत अपने अभिभावकों से की। जिसपर अभिभावकों ने विद्यालय पहुंच हंगामा किया।

बताया जा रहा है कि अभिभावकों के विद्यालय पहुंचने पर आरोपित प्रधानाध्यापक माफी मांगकर वहां से खिसक गया और फिर विद्यालय नहीं पहुंचा। वहीं शिक्षा विभाग ने आरोपित प्रधानाध्यापक को निलंबित कर दिया है। इसके साथ ही विभाग ने प्रकरण की जांच के लिए तीन सदस्यीय समिति गठित की है। मामले की जांच की जा रही है।