उत्तरकाशी : यमुनोत्री धाम के कपाट शीतकालीन के लिए बन्द

  •  INDIA 121

राज्य में चार प्रमुख धामों में से भैया दूज अर्थात यम द्वितीय के पावन पर्व पर दर्शनार्थ हेतु प्रथम यमुनोत्री धाम का कपाट शीतकालीन के लिए उपजिलाधिकारी मनुज गोयल ने जिलाधिकारी डा. आशीष चैहान एवं तीर्थ पुरोहितों व श्रद्धालुओं की उपस्थिति में भव्य मंत्रोचारण एवं विधिवत पूजा अर्चना के साथ अपराह्न 1 बजकर 27 मिनट पर बन्द किया। यमुना मैया की डोली भव्य जलसे के साथ अपनी 6 माह षीतकालीन प्रवास हेतु खरसाली के लिए श्रद्धालुओं, प्रषासन, के साथ रवाना हुई। वही जिलाधिकारी भी यमुना मैया की डोली के जलसे के साथ आये। यमुना मैया अब खरशाली में अपने मन्दिर पर षीतकाल के लिए विराजेगें।
जिलाधिकारी डा. आशीष चैहान ने आज प्रातः ही सपरिवार यमुनोत्री धाम पहुंच कर मां यमुना की दर्षन कर पूजा अर्चना की। उन्होने यमुना मैया से जनपद में खुषहाली की कामनाऐं की। जिलाधिकारी ने यमुनोत्री पैदल रूट एवं धाम परिसर का भी जायजा लिया। उन्होने कहा कि पैदल रूट में हो रहे निर्माण कार्य 27 अक्टूबर तक पूर्ण की जायेगी। आगामी यात्रा से पूर्व पैदल रूट को शुरक्षित रूट बनाने हेतु उनकी प्राथमिकाता में है। कहा कि खरसाली में 6 माह की शीतकाल यमुना मैया के प्रवास के दौरान जिला प्रषासन द्वारा पूरी मुस्तैदी के साथ सेवा प्रदान करेगी।
यमुनात्री धाम के कपाट बन्द के दौरान बडी संख्या में श्रद्धालुओं के साथ पण्डा समाज के तीर्थ पुरोहित, अधिकारी, कर्मचारी व पुलिस प्रषासन उपस्थित थे।