उत्तरकाशी : जगरूकता से समाज में महिलाओं की पहचान बनी : गोपाल रावत

  • INDIA 121 उत्तरकाशी

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय के आडोरियम में आयोजित गंगोत्री स्वायत सहकारिता की वार्शिक आम बैठक का मुख्य अतिथि क्षेत्रीय विधायक गोपाल सिंह रावत एवं विषिश्ठि अतिथि जिलाधिकारी डा. आषीश कुमार श्रीवास्तव ने दीप प्रज्वलित कर षुभारम्भ किया। इस मौके पर क्षेत्रीय विधायक रावत ने कहा कि विभिन्न स्वयं सहायता समूहों ने महिलाओं को नई राह दिखाई है पहले महिलायें घरों से निकलने में कतराती थी, लेकिन आज महिलायें आर्थिक की रीढ़ है। कहा कि जागरूकता से समाज में महिलाओं की पहचान बनी है।

उन्होंने लिच्चर पापड़ का उदाहरण भी दिया कहा कि पापड़ बनाने के काम गुजरात की चार-पांच महिलाओं ने षुरू किया था लेकिन आज इस पापड़ की विष्व में पहचान है।

विधायक रावत ने कहा कि समूह के उत्पादों को बाजार उपलब्ध कराने का प्रयास किया जायेगा। कहा कि महिलाओं के उत्थान के लिए सरकार कटीबद्व है। उन्होंने कहा कि पषुपालन के क्षेत्र में अपार संभावनायें है, कहा कि दस पषु पालन से बेहतर है कि दो उन्नत किस्म के पषुओं का अच्छा लालन पालन कर ज्यादा दूध प्राप्त किया जा सकता हैं, दूध की बाजार में सबसे ज्यादा मांग भी है। उन्होंने कहा कि वे हमेषा सामूहिक सौच सामूहिक विकास के लिए कधंे से कधा मिलाकर काम करेंगे। इस अवसर पर उन्होंने अपने चार माह कि उपलब्धियों भी गिनाते हुए कहा कि जिला अस्पातल में सीटी स्कैन मषीन न होने के कारण यहां के मरीचों को देहरादून के चक्कर काटने पड़ते थे, इसके लिए जिला अस्पताल में सीटी स्कैन मषीन की स्थापना की गई है, वहीं कहा कि आपदा से जरजर जोषियाड़ा पुल को डबल लेने पुल बनाने की स्वीकृृत मिल गई है।
इस मौके पर विषिश्ठ अतिथि जिलाधिकारी डा. आषीश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि आजीविका का स्तर बढ़ाने के जो प्रयास महिलाओं के द्वारा किया गया है वह सराहनीय है। उन्होंने कहा कि संस्था के उत्पाद को अगर बाजार उपलब्ध हो तो संस्था के उत्पादों का ज्यादा विक्रय होगा। कहा कि जो भी उत्पाद किया जा रहा है उसके लिए बाजार एवं गुणवत्ता पर भी ध्यान देने आवष्यक है। कहा कि उन्नत नस्ल के रख कर दूध का उत्पादन बढाया जा सकता है।
इस अवसर पर श्रीभूमनेष्वरी महिला आश्रम के प्रबंधक गोपाल थपलिया ने कहा कि स्वयत सहकारिता संस्था का गठन वर्श 2014 किया गया था, संस्था द्वारा अब तक 60 लाख रूपये के दूग्ध प्रोडक्ट का विक्रय किया गया है। कहा कि संस्था द्वारा अब तक 33 हजार का पषुचारे का विक्रय भी किया जा चुका है। कहा कि संस्था द्वारा 15 हेक्टेयर भूमि पर सब्जी का उत्पादन भी किया जा रहा है।
इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी प्रलयंकर नाथ, हिमोत्थान के षषीभूशण उनियाल, गणेषपुर की प्रधान पुश्पा चैहान, नबार्ड के डीडीएम जीएस चैधरी संस्था के मैनजर श्री चमोली आदि ने सम्बोधित किया।
इस मौके पर स्वायत सहकारिता संस्था की अध्यक्ष विजेन्द्री राणा, नेताला के प्रधान अम्बिका सेमवाल, संस्था की संरक्षक माहष्वरी भट््ट, सुमित्र चैहान, सहित संस्था से जुड़ी विभिन्न गांव की महिलायें मौजूद थी।

  • INDIA 121