हर्षिल में हुआ दो दिवसीय उत्तराखंड पुलिस बॉर्डर विकास उत्सव का आगाज

  • उत्तरकाशी, रिपोर्ट – प्रवेश नौटियाल

हर्षिल में आयोजित दो दिवसीय उत्तराखंड पुलिस बॉर्डर विकास उत्सव का आगाज। बतौर मुख्य अतिथि पुलिस उप महानिरीक्षक गढ़वाल श्री करण सिंह नगन्याल ने दीप प्रज्वलित कर मेले का शुभारंभ किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी श्री मयूर दीक्षित,एसपी श्री मणिकांत मिश्रा, ब्लाक प्रमुख भटवाड़ी विनीता रावत सहित स्थानीय जनता मौजूद रही। महोत्सव में स्कूली बच्चों,पुलिस जवानों एवं संवेदना समूह के कलाकारों द्वारा विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। मेले में स्थानीय संस्कृति भी मेलार्थियों को देखने को मिली।

 

डीआईजी ने अपने सम्बोधन में कहा कि सीमांत गांव में स्थानीय लोगों की मौजूदगी हमेशा सेना के लिए सुखद रहा है। लेकिन 1962 चीन-भारत युद्ध के बाद स्थानीय लोगों ने सीमांत गांव से निचले क्षेत्रों में पलायन किया। जिस कारण यह गांव खाली हुए। सीमांत गांव फिर से गुलजार हो तथा यहां की परम्परागत गतिविधियां संचालित हो इसका हर सम्भव भरसक प्रयास किए जा रहें है। गैर आबाद सीमांत गांव को आबाद करने एवं स्थानीय लोगों की क्या समस्यांए है उनका निराकरण के लिए शीघ्र समीक्षा बैठक कर रिपोर्ट शासन को सौंपने का आश्वसन सीमांतवासियों को दिया। कहा बार्डर उत्सव का मुख्य उद्देश्य सीमान्त क्षेत्रों के खान-पान,रहन-सहन,संस्कृति,परम्पराओं एवं विकास को बढावा देना है निकट भविष्य में उत्सव को और अधिक लोकप्रिय व आर्कषक बनाने का भरसक प्रयास किया जाएगा। राज्य के सीमान्त क्षेत्रों में संस्कृति,अपनत्व तथा विकास को प्रोत्साहित करने एवं ऐसे क्षेत्र को उत्सव के जरिए गुलजार करने तथा पर्यटकों को यहां की संस्कृति से रुबरु कराने के उद्देश्य से उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों/क्षेत्रों में बॉर्डर विकास उत्सव का आयोजन किया गया है।
उसके उपरांत डीआईजी ने विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। तथा खेल विभाग द्वारा आयोजित बॉलीबाल प्रतियोगिता फाइनल मैच का शुभारंभ किया।

उत्तराखंड पुलिस बॉर्डर विकास उत्सव में उद्यान,कृषि,पशुपालन,पूर्ति विभाग,पर्यटन,समाज कल्याण,पंचायतीराज, ग्राम्य विकास,आईएलएसपी सहित सेना,आईटीबीपी,पुलिस,एसडीआरएफ, निम,आपदा प्रबंधन द्वारा स्टॉल स्थापित कर विभागीय योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई तथा स्थानीय जनता को लाभान्वित किया गया।

इस अवसर पर जगमोहन सिंह रावत, पूर्व राज्य मंत्री/विधायक ज्ञानचंद, गुमान सिंह नेगी,भगवान सिंह राणा, नागेंद्र सिंह, दिनेश भट्ट, सीईओ विनोद प्रसाद सेमल्टी, सीएचओ डॉ रजनीश सिंह,जिला पूर्ति अधिकारी मनोज सोनी,आपदा समन्वयक जय पंवार,शार्दूल गुसाईं सहित क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि ग्राम प्रधान,क्षेत्र पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्य भी उपस्थित थे।