टिहरी के युवक की विदेशी दुल्हन से शादी देशभर में बनी चर्चा का विषय…

टिहरी की शादी देशभर में चर्चा का विषय बन गई है। वजह एक यूरोप की लड़की और टिहरी के युवक का सच्चा प्यार जिसे सात समुंदर पार की दूरी भी नहीं रोक पाई। जी हां यूरोप के स्लोवाकिया देश की रिबेका और टिहरी के जाखणी चामासौड़ निवासी संदीप सेमवाल ने हिंदू रीतिरिवाज के साथ काशी विश्वनाथ मंदिर में सात फेरे लिए है। रिबेका अब मीरा बन गई है और हिंदू रीतिरिवाज के साथ ही सात जन्मों का साथ निभान की कसम  ले चुकी है। आइए जानते है इस अनोखी प्रेम कहानी के शादी तक के सफर की दास्तान…

मिली जानकारी के अनुसार टिहरी के जाखणी चामासौड़ निवासी संदीप सेमवाल पेशे से संदीप योग शिक्षक हैं। वह 11-12 साल की उम्र में ही ऋषिकेश के भरत मिलाप आश्रम चले गए थे, जहां उनके गुरु स्वर्गीय स्वामी रामकृपालु ने उन्हें योग और हिंदू धर्म की शिक्षा दी। योग में मास्टर डिग्री कर वह ऋषिकेश के ही स्कूल में योग शिक्षा देते हैं। साल 2018 में यूरोप की रिबेका भी शिक्षा लेने आई थी। इसी बीच उनके गुरु स्वामी रामकृपालु ने दोनों के समक्ष एक-दूसरे से विवाह का प्रस्ताव रखा था। इतना ही नहीं बताया जा रहा है कि स्वामी रामकृपालु ने ही रिबेका को मीरा नाम दिया। इसी नाम के साथ अब मीरा ने संदीप से शादी कर ली है।

बताया जा रहा है कि इन दोनों का विवाह पहले ही होना था लेकिन कोरोना और फिर गुरु के निधन के चलते उनका विवाह नहीं हो पाया, लेकिन रिबेका अब विवाह के लिए यहां पहुंची और दोनों ने काशी विश्वनाथ मंदिर में हिंदू रीति-रिवाज के साथ शादी की। ये विवाह काशी विश्वनाथ मंदिर में लोगों के आकर्षण का केंद्र रहा। मंदिर में मौजूद लोगों ने देसी दूल्हे और विदेशी दुल्हन के साथ खूब तस्वीरें लीं तो वहीं अपना आशीर्वाद भी दिया।