कोरोना काल के आमजन के लिए मददगार बने एसडीएम देवेंद्र

साभार : दैनिक जागरण उत्त्तरकाशी

अफसरों के रौब और रुतबे के किस्से तो कई हैं। लेकिन, सरल व्यवहार और मानवीय संवेदनशीलता की मिसाल बहुत कम ही मिलती हैं। इन्हीं में शामिल है उत्तरकाशी जनपद की सीमांत तहसील के उपजिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी। लॉकडाउन के दौरान उपजिलाधिकारी देवेंद्र नेगी आमजन के लिए खासा मददगार बने। लॉकडाउन में आमजन की फजीहत और समय बचाने के लिए उपजिलाधिकारी देवेंद्र नेगी ने वाहनों व व्यक्तियों की अनुमति के लिए सैकड़ों फरियादियों से आवेदन व्हाट्सएप पर ही मंगवाए और उसी पर अनुमति पत्र जारी किए।

दरअसल लॉकडाउन के दौरान वाहनों का सुचारू संचालन न होने के कारण सबसे अधिक परेशानी ग्रामीणों को गांव से जिला मुख्यालय और तहसील मुख्यालय तक पहुंचने की और वापस लौटने की थी। आमजन की इसी समस्या को देवेंद्र सिंह नेगी ने बखूबी समझा। इस सरलता से आमजन की मदद करने के लिए उपजिलाधिकारी देवेंद्र नेगी को काफी सरहना मिली।

मूल रूप से द्वारीखाल पौड़ी जनपद निवासी देवेंद्र सिंह नेगी अपने सरल स्वभाव के लिए पहले से ही खास पहचान रखते हैं। लेकिन, कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए प्रभावी लॉकडाउन में प्रशासनिक क‌र्त्तव्य को बेहतर ढंग से निपटाने के साथ आमजन के खास मददगार बने। जिला मुख्यालय की तहसील के उपजिलाधिकारी का दायित्व होने के कारण लॉकडाउन के दौरान इनकी भूमिका महत्वपूर्ण रही है। जिला मुख्यालय पहुंचने पर प्रवासियों के ठहरने की व्यवस्था, होम क्वारंटाइन की व्यवस्था, कोरोना पॉजिटिव आए व्यक्तियों के लिए क्वारंटाइन सेंटर बनाने और उनका संचालन भी प्रशासन के जिम्मे था और प्रशासन की उस टीम का नेतृत्व उपजिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी ने किया, जिसे उन्होंने बखूबी से निभाया।

एक दिन भी बंद नहीं रही तहसील

भटवाड़ी तहसील के 11 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए। एक वरिष्ठ लिपिक और एक राजस्व उप निरीक्षक की कोरोना संक्रमण से मौत भी हुई। लेकिन, अधिकांश अनुमतियां और अन्य कार्य तहसील से ही संपादित हो रहे थे। इसलिए लॉकडाउन के दौरान उपजिलाधिकारी देवेंद्र नेगी ने एक दिन भी तहसील बंद नहीं रखी।


जरूरतमंदों को बांटे पांच राशन किट

लॉकडाउन के दौरान उपजिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी ने अपने चिरपरिचितों व दोस्तों से राशन सामग्री एकत्र करवाई, जिसे तहसील में पहुंचाकर पांच सौ राशन किट बनाए गए। उपजिलाधिकारी देवेंद्र सिंह नेगी के निर्देश पर राजस्व टीम ने भटवाड़ी तहसील क्षेत्र में मजदूरों, आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों, विधवा बेसहारा महिलाओं, दिव्यांगों को राशन किट व अन्य सामग्री दी। यही नहीं लीक से हटकर भी कई व्यक्तियों की मदद भी की।