उत्तरकाशी : पर्यटन सचिव पहुंचे उत्तरकाशी कहा 13 जनपदों में 13 नये पर्यटन स्थल होंगे विकसित

  • उत्तरकाशी

सचिव पर्यटन एवं सूचना दिलीप जावलकर दो दिवीय भ्रमण कार्यक्रम के तहत उत्तरकाषी पहुंचे। जहा। पर उन्होंने बस स्टेड स्थित हिमाद्री इम्पोरियम का निरीक्षण किया। इसके अपरांत उन्होंने जिला कार्यालय में अधिकारियों की बैठक ली।

उन्होंने कहा कि राज्य के 13 जनपदों में 13 नये पर्यटन स्थल विकसित किये जाने हैं, इस क्रम उत्तरकाषी में मोरी-जखोल-हरकीदून क्षेत्र को नय पर्यटन स्थल के रूप में विकासित किया जायेगा, जिस हेतु षासन से 50 लाख अवमुक्त किये गये हैं। उन्होंने कहा कि यहां कि ऐतिहासिक धरोहर को संरक्षित करने का प्रयास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि उत्तरकाषी के पर्यटन स्थलों को विकसित करने के लिए क्षेत्र में कनेक्टिविटी जिसमें हैली एवं यातायात को सुव्यवस्थित किये जाने का प्रयास किये जा रहे हैं, ताकि पर्यटक पहाड़ी क्षेत्रा तक पहुंच सके।
जिलाधिकारी डा0 आषीश चौहान ने बताया कि मोरी -जखोल-हरकीदून में पर्यटकों को आकृशित करने हेतु पैदल ट्रेक विकसित किये जायेंगे, साथ ही होम स्टे योजना के अन्तर्गत स्थानीय षैली के ही होम स्टे मकान बनाये जायेंगे। उन्होंने बताया कि उनके द्वारा सांकरी क्षेत्र में होम स्टे स्वीकृत भी किये गये है।

सचिव पर्यटन जावलकर ने कहा कि जनपद में नये पर्यटक स्थलों को प्लानिंग से विकसित करने के लिए षासन स्तर पर एजेंसियां सूचीबद्व की जा रही है, उन एजेंसियों की सेवायें जनपद अपने पर्यटन स्थलों को विकसित करने हेतु ले सकते हैं। उन्होंने कहा कि नेटवाड़ को महाभारत सर्किट से जोड़ा गया है, कहा कि जखोल-मोरी-नैटवाड़ व हर्शिल-झाला क्षेत्र में पर्यटन की दृश्टि से क्या-क्या किया जा सकता है प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देष जिलाधिकारी को दिये।

सचिव पर्यटन जावलकर ने टौंस नदी व हर्शिल में भागीरथी नदी में रिवर राफ्टिंग, क्याकिंग आदि के प्रस्ताव भी बनाने के निर्देष दिये। उन्होंने जोषियाड़ा झील (डाम), चिन्यालीसौड़ झील में बोटिंग करान का प्रयास भी करने को कहा।
इस मौके पर मुख्य निर्वाचन अधिकारी, आयुक्त उद्योग सौजन्य, अपर जिलाधिकारी हेमन्त वर्मा, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र नेगी, जिला पर्यटन अधिकारी प्रकाष खत्री, सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी एस0एल0 षाह, महाप्रबन्धक उद्योग केन्द्र एस0एस0 रावत, आपदा प्रबन्ध अधिकारी देवेन्द्र पटवाल आदि मौजूद थे।