उत्तरकाशी : ओजरी (डाबरकोट) से कुन्साला तक वैकल्पिक सडक बनाने के निर्देश

  • उत्तरकाशी INDIA 121

जिलाधिकारी डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग ओजरी के पास लगातार हो रहे भू-स्खलन क्षेत्र का पुलिस अधीक्षक, उपजिलाधिकारी, संबंधित तकनीकिय अधिकारी, रा.राजमार्ग एवं लोनिवि के अधीक्षण अभियन्ता, पुलिस उपाधीक्षक, उपजिलाधिकारी एवं ग्रामीणों के साथ निरीक्षण किया।

उन्होेेने ओजरी (डाबरकोट) से कुन्साला तक वैकल्पिक सडक बनाने के निर्देष लोनिवि के अधीक्षण अभियन्ता को दिया। कहा कि एनएच से भी कार्य में तेजी लाने के लिए मशीनरी की पूरी सहयोग ले, साथ ही मार्ग बनाने में अन्य स्रोत से सहयोग लेना पडे तो अवश्य लें। उन्होने उपजिलाधिकारी मनुज गोयल को निर्देशित करते हुए कहा कि रात्री को भी मार्ग बनाने हेतु प्रकाश का समुचित इंतजाम करें, आस्का लाईट आदि उपलब्ध कराये। मजदूरों एवं कर्मचारियों के लिए भोजन आदि का व्यवस्था भी करे।

ओजरी गांव के महिला द्वारा सडक निर्माण कार्य को लेकर धरना देने पर जिलाधिकारी ने उन्हे आश्वासन देते हुए कहा कि उनकी सभी क्षतिग्रस्त भूमि का मानक के तहत मुआवजा दिया जायेगा, साथ ही फसल के भी सहायता दी जायेगी। जिलाधिकारी ने सभी ग्रामीणों को धाम यात्रियों को जल्द से जल्द सुविधा मुहैया कराये जाने हेतु अपना सहयोग भी देने को कहा, जिस पर ग्रामीणों ने जिलाधिकारी के बात का स्वागत करते हुए मार्ग बनाने में अपना पूर्ण सहायोग देने का बचन दिया।

जिलाधिकारी ने ग्रामीणों की खेत/भूमि सड़क आदि पर कटने एवं भूस्खलन से क्षतिग्रस्त होने पर उपजिलाधिकारी को मुआवजा बनाने के निर्देश दिया। पेयजल के लाईन का कार्य शुरू हो गया है, शीघ्र ही पानी की समस्या का निस्तारण भी हो जायेगा। उन्होने कहा कि हाईस्कूल स्तर के बच्चो को शिक्षा हेतु नजदीक के विद्यालयों में पढाये जायेगें। ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को ओजरी गांव के उपरी भाग पर दरार आने बात कही जिस पर उन्होने भू-वैज्ञानिक को जांच कर रिपोर्ट देने के निर्देश दिया।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक सुखविन्दर सिह, भू वैज्ञानिक डी एस चन्द, पुलिस उपाधीक्षक के एस कोहली, अधीक्षण अभियन्ता लोनिवि एस के राय, राष्ट्रीय राजमार्ग राजेश चन्द्र शर्मा, प्रधान ओजरी पुष्पा देवी, सहित ग्रामीण, अधिकारी कर्मचारी एवं मजदूर मौजूद थे।