उत्तरकाशी : आग से झुलसी स्कूल से घर जाती 6 छात्रएं बाल बाल बची, देर रात 40 किलोमीटर दूर DM पहुंचे गांव, जाना हाल

  • INDIA 121 # उत्तरकाशी

बुधवार को जिलाधिकारी डा0 आषीश चौहान देर सांय महिडाडा 35वीं वाहिनी आईटीबीपी कैम्पस में बढ रही वनाग्नि पर काबू पाने के बाद डीएफओ संदीप कुमार को साथ लेकर रात्रि को ही क्षेत्र में फैल रहे वनाग्नि की जायजा लेते हुए, ग्राम सभा पटारा में आग से झुलसी बालिकाओं का हाल-चाल जानने पहुंचे। सभी बालिकाओं के घर जाकर जिलाधिकारी ने उनसे वार्तालाप कर, उन्हे डाक्टर के टीम भेज कर षीघ्र ठीक करने का भरोसा दिया। कहा कि आप सभी ने हिम्मत से काम लिया है। इस तरह की चोट आदि से घबराने की जरूरत नही है। उपचार के दौरान डाक्टरों द्वारा बताये जा रहे निर्देषों का पालन करें, साथ ही स्वच्छता पर विषेश ध्यान दें।

जिलाधिकारी ने मौके पर उपस्थित उपजिलाधिकारी डुण्डा सौरभ असवाल को आवष्यक कार्यवाही करने एवं मुख्य चिकित्साधिकारी से समन्यवय स्थापित कर बालिकाओं की उपचार हेतु डाक्टर षीघ्र डाक्टर की टीम भेजना हेतु निर्देष दिये।

साथ ही कहा कि विद्यालय के प्राधानाचार्य से समन्यवय कर उपचार के दौरान तक बालिकाओं की अवकाश देना सुनिष्चित करेंगे।

राजकीय इण्टर कालेज मालनाधार (घटवालधार) में अध्ययनरत जखारी निवासी वन्दना, प्रीति, करिष्मा, मुस्कान, कल्पना व पटारा निवासी षिवानी विद्यालय में छुट्टी के बाद घर को लौटते समय खेतों के आग जंगल में फैलने व तेज हवा से आग के चिन्गारी के चपेट में आने से हाथ व पैर में आंषिक रूप से झुलस गये थे। जिन्हे कल्याणी ब्रम्हखाल स्वास्थ्य केन्द्र से डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद घर भेजा दिया था।

इसके उपरान्त जिलाधिकारी डा0 चौहान ने कल्याणी, धरासु, में उपस्थित वन विभाग के फायर कन्ट्रोल टीम से क्षेत्र में फैल रही आग को नियंत्रण करने हेतु आवष्यक दिषा निर्देष दिये। कहा कि वैक फायर कर आग को कंट्रोल करें। जिससे आग मानवीय बस्ती की ओर न बढ सकें। उन्होने आलवेदर रोड के निर्माण कार्य का भी निरीक्षण किया।
इससे पूर्व जिलाधिकारी ने महिडाडा में 35वीं वाहिनी आईटीबीपी परिसर की ओर बढ रही साल्ड की ओर से फैले वनाग्नि को उपस्थित फायर कन्ट्रोल टीम का अगवाई कर आग को परिसर में पहुंचने से पहले बुझा दी गई। जबकि एक टीम को नीचले क्षेत्र में आग को नियंत्रण करने हेतु वैकफायर करने के निर्देष दिये गये। इस दौरान जिलधिकारी डा0 चौहान ने सभी को निर्देषित करते हुए कि किसी भी दषा में आग मानवीय बस्ती की ओर नही बढनी चाहिए। जिस हेतु उन्होने फायर कंट्रोल टीम को वनों में लग रही आग पर निगरानी रखने के निर्देष दिये। कहा कि त्वरित कार्यवाही करते हुए वनाग्नि को कंट्रोल करना सुनिष्चित करेंगे।

इस अवसर पर 35वीं वाहिनी आईटीबीपी डीआईजी हरेन्द्र पाल सिंह, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र सिह नेगी, द्वितीय कमान अधिकारी देवेन्द्र सिह परमार, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, डिप्टी कमाडेट सुबोध कुमार सहित वन विभाग, आईटीबीपी, राजस्व, आपदा, अग्निषमन, पुलिस आदि विभागों के अधिकारी, कर्मचारी एवं जवान मौजूद थे।