सिडकुल सितारगंज के सहायक लेखाकार रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार…

Uttarakhand News: प्रदेश की धामी सरकार भ्रष्टाचार की जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत लगातार कार्रवाई कर रही है। एक बार फिर रिश्वत लेते कर्मी को रंगेहाथ पकड़ा गया है। बताया जा रहा है कि सतर्कता अधिष्ठान उत्तराखण्ड द्वारा सिडकुल सितारगंज के सहायक लेखाकार को 9 हजार रुपए रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। आइए जानते है ये कार्रवाई कब और कैसे की गई।

मिली जानकारी के अनुसार शिकायतकर्ता द्वारा सिडकुल में 2 प्लॉट के लिए आवेदन किया गया था, जिसका आवंटन होने एवं पूर्ण भुगतान करने के बाद रजिस्ट्री की एनओसी उपलब्ध कराने के एवज में आर.एम. सिडकुल, सितारगंज के कार्यालय में तैनात अकाउन्टेन्ट उमेश कुमार ने रिश्वत की मांग की थी।उक्त शिकायत पर सतर्कता अधिष्ठान ने एक्शन लेते हुए तत्परता से तत्काल ट्रैप टीम का गठन किया।

बताया जा रहा है कि सेक्टर हल्द्वानी द्वारा गोपनीय जाँच किए जाने पर प्रथम दृष्टतया सही पाए जाने पर तत्काल ट्रैप टीम का गठन किया गया, टीम द्वारा नियमानुसार कार्रवाई करते हुए आर.एम. सिडकुल सितारगंज के लेखाकार उमेश कुमार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया गया। आरोपी की पहचान लेखाकार उमेश कुमार पुत्र ओम प्रकाश जोशी निवासी चांदमारी, थाना काठगोदान जनपद नैनीताल के रूप में  हुई है। मामले में अभियुक्त से पूछताछ जारी है।

बताया जा रहा है कि मामले में भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अन्तर्गत प्रकरण दर्ज कर अग्रिम अनुसंधान किया जायेगा। वहीं ट्रैप टीम को नकद पुरस्कार देने की घोषणा की गयी है। साथ ही आम जन से सतर्कता अधिष्ठान के टोल-फ्री हैल्पलाईन न0 1064 एवं Whatsapp हैल्पलाईन नं. 9456592300 पर 24×7 सम्पर्क कर भ्रष्टाचार के विरूद्ध अभियान में आपना महत्त्वपूर्ण देने की अपील की गई है।