1 सप्ताह के भीतर जिला योजना अंतर्गत प्रस्ताव पास कराना सुनिश्चित करें अधिकारी : डीएम

जिला कार्यालय सभागार में जिलाधिकारी सी0 रविशंकर की अध्यक्षता में लोनिवि एवं पीएमजीएसवाई सिचाई विभाग,जल निगम, जल संस्थान, लघुडाल खंड यंत्रिक विभाग एवं अन्य विभागों के अधिकारियों के साथ एक समीक्षा बैठक संपन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने समस्त विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे 1 सप्ताह के भीतर जिला योजना अंतर्गत प्रस्ताव पास कराना सुनिश्चित करें। जिला योजना को अंतिम रूप दिये जाने हेतु वे ब्लाक लेबल जिला पंचायत, ग्राम पंचायत आदि के प्रतिनिधियों से वार्ता कर प्रस्ताव पास करना सुनिश्चित करें ताकि जिला योजना की बैठक को संपन्न कराया जा सकंे। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने समस्त उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने स्तर पर कोई कमी न छोड़े व प्रस्ताव पास करना सुनिश्चित करेंगे।
बैठक में जनपद में समस्त विभागों द्वारा वर्ष 2017-18 की जिला योजनान्तर्गत तैयार किये गये प्रस्तावों पर विभागवार चर्चा की गयी। उक्त संबंध मे जिलाधिकारी सी0 रविशंकर ने संबंधित विभागों को निर्देश दिये कि क्षेत्रीय विकास हेतु जो भी योजनायें  है उन्हें प्रस्तावित करें। उन्होंने विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह प्रस्ताव 1सप्ताह के भीतर तक जिला अर्थ एंव संख्याधिकारी कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें ताकि योजना को अंतिम रूप देते हुए जिला नियोजन एंव अनुश्रवण समिति की बैठक में अनुमोदन हेतु प्रस्तुत किया जा सके।
उन्होंने जनता का कार्य समय से पूर्ण करने हेतु सभी अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि विकास का लाभ जनता को मिल सकें इस हेतु प्रत्येक को तत्परता से कार्य करना होगा। जिलाधिकारी ने पूर्व में अवमुक्त धनराशि के व्यय के संबंध में विभागवार योजनाओं पर हुए व्यय और उससे आगे की योजनाओं के प्रस्ताव भेजने के साथ ही समय से निर्माण कार्य पूर्ण करने के निर्देश बैठक में दिए। बैठक में जिलाधिकारी ने अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष व्यय के संबंध में विभागवार योजनाओं पर हुए व्यय और कार्यो की प्रगति की जानकारी विभागीय अधिकारियों से ली।
बैठक में जिलाधिकारी ने लोनिवि, पीएमजीएसवाई से आये अधिकारियों को निर्देश दिए कि आपदाकाल के दौरान जनपद में जितने भी सड़कमार्ग अवरूद्व हो रहे है उन्हें तत्काल खोले जाने हेतु कार्यवाही करना सुनिश्चित करें इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने लोनिवि एवं पीएमजीएसवाई के अधीक्षण अभियंताओं को निर्देश दिए कि वे पंजिका बनाकर घटित घटनाओं को दर्ज करना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने निर्देश दिए कि मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन कर विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन विभागीय परिसम्पतियों को नुकसान हेाता उस संबंध में परिसम्पत्यिों कहां क्षतिग्रस्त है एवं कैसें व किन कारणों से क्षतिग्रस्त है आदि की रिर्पोट उन्हें भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। साथ ही उन्होंने अधीशासी अभियंता को निर्देश दिए कि जिन विद्यायलों में पेयजल संबंधी समस्यां आ रही है उनके समाधान हेतु शिक्षा विभाग से सम्पर्क कर एक बैठक 1 सप्ताह के भीतर करना सुनिश्चित करें ताकि स्कूलों में पेयजल संबंधी समस्यां का समाधान किया जा सके। इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने लोनिवि के अधिकारियों को निर्देश दिए कि सड़क बनाने के दौरान अगर कोई विवाद है तो वे उन्हें उपजिलाधिकारी एवं प्रशासन की मदद से सुलझायें। इसके अतिरिक्त उन्होंने अधिशासी अभियंता जल निगम से आंवलाघाट पेयजल योजना के कार्यों में भी विस्तारपूर्वक जानकारी ली गयी एवं निर्देश कि यह योजना जनपद हेतु अत्यन्त महत्वपूर्ण येाजना है वे इस योजना हेतु त्वरित गति से कार्य करना सुनिश्चित करें।
बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आशीष चैहान, अधीक्षण अभियंता लोनिवि वाई0एल0शैल, बी0पी0 पंत ईई लोनिवि बेरीनाग, ई0ई0 अस्कोट ए0बी0 कांडपाल, ई0ई0 लोनिवि डीडीहाट पी0सी0 जोशी, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी, बी0एस0निपूरखा, अधिशासी अभियंता लोनिवि नवीन जोशी समेत तमाम पीएमजीएसवाई के अभियंता समेत विभिन्न विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।