राष्ट्रीय राजमार्ग चैड़ीकरण को लेकर संबंधित अधिकारियों साथ समीक्षा बैठक

जिलाधिकारी डा. आषीष कुमार श्रीवास्तव ने प्रधानमंत्री पैकेज चारधाम (आॅल वेदर रोड) के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग चैड़ीकरण को लेकर संबंधित अधिकारियों साथ समीक्षा बैठक की। यमुनाघाटी के एनएच से संबंधित अधिकारी ने वीसी के माध्यम से बैठक में प्रतिभाग किया। उन्होंने संबंधित कार्यदायी संस्थानों को निर्देषित किया कि सप्ताह के प्रत्येक वृहस्पतिवार को उक्त राष्ट्रीय राजमार्ग से संबंधित कार्य प्रगति की बैठक की जायेगी। जिसमें सभी का उपस्थिति अनिवार्य है, यमुना घाटि के कर्मचारी वहीं से वीसी कक्ष से बैठक में प्रतिभाग करेंगे।
जिलाधिकारी ने राष्ट्रीय राजमार्ग- धरासू से जानकीचट्टी तक के एनएच में अब तक की गई कार्यों की जानकारी ली, जिस पर संबंधित कार्यदायी संस्थान के अधिकारियों ने बताया कि थ्री-डी का कार्य पूर्ण हो गया है। जबकि बीआरओ के चिन्यालीसौड से धरासू एवं धरासू से सिंगोटी तथा सिंगोटी से उत्तरकाषी तक के कार्याे की प्रगति रिर्पोट की जानकारी ली। सिलक्यारा से जंगल चट्टी तक संबंधित प्रभागीय वनाधिकारी को स्थलीय निरीक्षण कर रिर्पोट देने को कहा। उन्होने कार्यदायी संस्थान के अधिकारियांे को निर्देषित करते हुए कहा कि फोरेस्ट क्लिरेंस मामले पर डीएफओ से समन्यवय कर निस्तारित करे।
जिलाधिकारी ने कहा कि सड़क चैड़ीकरण में आ रहे आवासीय भवन, दुकान, संरचना, पेयजल लाईन, विद्युत लाईन आदि का समुचित मुल्यांकन एवं सड़क चैड़ीकरण में आ रहे परिसम्पति के 50 प्रतिषत से अधिक आने पर उसे पूरा लिया जाय। जिसका लोनिवि सर्किल रेट पर प्रतिकर बनायें। उन्होंने कहा कि सड़क चैड़ीकरण में आ रही सरकारी परिसम्पति का भूमि का मुआवजा नही दिया जायेगा, केवल उसके संरचना का ही मुआवजा दिया जायेगा
जिलाधिकारी ने सड़क चैड़ीकरण में अधिग्रहित हो रहे परिसम्पति के संबंधित विभाग एसएलओ के तहत प्रस्ताव समिट करें।
बैठक में डीएफओ संदीप कुमार, अपर जिलाधिकारी पीएल शाह, एसडीएम देवेन्द्र सिह नेगी, सौरभ असवाल, बीआरओ, एनएच, लोनिवि, आदि संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।