उत्त्तरकाशी : रोजगार के लिए कारगर साबित हो रहा मछली पालन

उत्तरकाशी जिले में मछली पालन से रोजगार अब प्रवासी लोगों के लिए बहुत ही कारगर साबित हो रहा है । मत्स्य विभाग इसके लिए गांव गांव जाकर बीज बाँट रहा है और ज्यादा से ज्यादा लोगों तक इस योजना का लाभ पहुंचाने का प्रयास कर रहा है।

कोरोना काल मे मछली पालन स्वरोजगार की दिशा में सरकार का एक बड़ा कदम साबित हो रहा है कोरोना काल मे अब बेरोजगार प्रवासियों को देखते हुए मत्स्य विभाग ने नदियों में मछली पालन के चलते स्थानीय लोगों को रोजगार देने का काम सुरु कर लिया है जिससे अब स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने से उनकी आजीविका मजे से चल रही है मत्स्य विभाग की सहायता के बाद से गांव में मछलियों से रोजगार का व्यवसाय खुल गया है थाति गांव की ग्राम प्रधान तनुजा चौहान का कहना है कि उनके गांव में कई ऐसे बेरोजगार नौजवान है जिन्हें अब मत्स्य विभाग की ओर से मछली पालन का रोजगार मुहैया करवा दिया जा रहा है जिससे ग्रामीण बेहद खुश हैं ।

वही मत्स्य विभाग के अधिकारी का कहना है कि सरकार सब्सिडी और मत्स्य पालन के छेत्र में सब्सिडी के तहत पैंसे दे रही है जिसके चलते कई बेरोजगार प्रवासी लोगों को रोजगार दिया जा रहा है

ऐसे में साफ तौर पर जाहिर होता है कि आने वाले समय में जहां नदियों और गाड़ गदेरों में मछलियों को कीटनाशक दवाओं से मारने के बाद मत्स्य विभाग को भारी नुकसान होता था वहीं अब मत्स्य पालन के बाद मत्स्य विभाग को फायदा तो होगा ही बल्कि स्थानीय लोगों को भी रोजगार मिल पाएगा।