उत्तरकाशी : अगोडा मोटर मार्ग पर गुणवत्ता के साथ अन्य सड़क निर्माण से संबंधित कार्यों पर विशेष ध्यान दें PMGSY : DM

  • उत्त्तरकाशी

सुदूरवर्ती क्षेत्रों को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने व मूलभूत सुविधाओं को प्राथमिकता के आधार पर जनमानस तक पहुंचना इन कार्यों पर प्रभावी रूप से कार्य किये जायेंगे यह बात रविवार को जिलाधिकारी  मयूर दीक्षित ने सीमांत क्षेत्र अस्सी गंगा घाटी के दौरे पर पर्यटन विकास गांव आगोडा पहुंचने पर कही ।

पीएमजीएसवाई द्वारा आगोड़ा सड़क मार्ग निर्माण का जिलाधिकारी दीक्षित ने स्थलीय निरीक्षण करते हुए कहा कि सड़क निर्माण काफी तेजी से हो रहा है । उन्होंने अधिशासी अभियंता पीएमजीएसवाई को निर्देशित करते हुए कहा कि सड़क निर्माण में गुणवत्ता के साथ अन्य सड़क निर्माण से संबंधित कार्यों पर विशेष ध्यान दिया जाए ।

जहां – जहां पर सड़क निर्माण में अड़चनें आ रही है l।त्वरित गति के साथ निस्पादन करना सुनिश्चित करें l।उन्होंने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में सड़क सुविधाएं बहुत मायने रखती है l इसलिए निमार्ण कार्यों में किसी भी तरह की शिथिलता न बरती जाए ।

तत्पश्चात जिलाधिकारी श्री दीक्षित का गांववासियों ने सोशल डिस्टेंसिंग के तहत अभिनन्दन किया ।मन्दिर प्रांगण में ग्राम सभा के प्रतिनिधियों द्वारा गांव की समस्याओं से जिलाधिकारी को अवगत करवाया गया । ग्राम प्रधान ने कहा कि संगमचटी से आगोडा तक पैदल सम्पर्क मार्ग के सुदृढ़ीकरण, 2012-13 की विनाशकारी बाढ़ से गांव के ऊपर भूंध्साव से परिवारों के मकान को खतरा, तथा नेटवर्किंग आदि समस्याएं गांव में बनी रहती है । जिस कारण क्षेत्रवासियों को काफी परेशानी उठानी पड़ती है । जिलाधिकारी ने कहा कि उक्त तमाम समस्याओं का निराकरण शीघ्र ही कर लिया जायेगा ।

पर्यटन क्षेत्र अस्सी गंगा घाटी को ओर अधिक विकसित किये जाने तथा व्यवस्थाओं को जोड़ने को लेकर जिलाधिकारी दीक्षित ने कहा कि सीमांत क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाएं है । पर्यटन के विकास को सुदृढ़ व बेहतर बनाने के लिए सरकार निरंतर अनेक योजनाएं लोगों तक पहुंचा रही है ।अधिक से अधिक लोगों को होम- स्टे का लाभ लेना चाहिए । देश-विदेश से आये पर्यटकों को पहाड़ की पौराणिक संस्कृति व विरासत की पहचान प्रदर्शित कराने साथ ही पहाड़ी व्यंजनों,पकवानों का पर्यटकों को स्वाद खिलाये । ताकि पहाड़ी उत्पाद, के व्यंजनों को एक पहचान मिल सके । जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को लंबित योजनाओं को गति प्रदान करने व मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत अधिक- से अधिक लोगों को जिला योजना से रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये ।उन्होंने गांव की बिजली की तारों को सुव्यवस्थित करने को लेकर अधिशासी अभियंता विधुत विभाग को निर्देशित किया ।

इस दौरान जिलाधिकारी ने आगोड़ा में भारत होम-स्टे व वन विभाग विश्राम गृह भवन का निरीक्षण तथा गांव का विस्तृत रूप से भम्रण किया । उन्होंने ग्रामीणों से सामाजिक दूरी बनाने व मास्क का नियमित उपयोग करने की अपील की ।

पर्यटन अधिकारी प्रकाश खत्री ने ग्रामीणों को होम-स्टे, पर्यटन विकास संबंधी आवश्यक जानकारियां प्रदान की गयी । उन्होंने कहा कि सरकार पर्यटन के विकास को लेकर निरंतर विभिन्न योजनाओं के तहत लोगों को रोजगार मुहैया करा रही है ।

उन्होंने कहा कि पर्यटन विभाग द्वारा ट्रैकिंग ट्रॅक्शन सेंटर होम स्टे अनुदान योजना नियमावली -2020 लागू की गई है। इस योजना के तहत होम स्टे ऐसी आवासीय इकाई जो पूर्णतः आवासीय परिसर हो जिसमे भवन स्वामी स्वयं निवास करता हो तथा उक्त गाँव ट्रैकिंग ट्रॅक्शन सेंटर के 02 कीoमीo की परिधि में पड़ता हो को लाभ मिलेगा। इस योजना के तहत राजकीय सहायता (अनुदान) के रूप में निर्माण हेतु प्रतिकक्ष रूपये 60, 000( साठ हजार ) Attached toilet की सुविधा के साथ तथा पूर्व में निर्मित कक्षों की साज -सज्जा हेतु रूपये 25, 000( पच्चीस हजार ) प्रतिकक्ष अधिकतम 06 कक्षों तक का भुगतान आवेदनकर्ता द्वारा प्रस्तुति वास्तविक देयकों के आधार पर गठित समिति के मूल्यांकन/पुष्टि के उपरान्त डीoबीoटीo के माध्यम से अनुदान राशि सीधे लाभार्थी के खाते में अंतरित की जायेगी। इस योजना के तहत होम स्टे स्थापित किये जाने हेतु भू -उपयोग (143) परिवर्तन किये जाने की आवश्यकता नहीं होगी।

वर्तमान में जनपद उत्तरकाशी से विकासखंड भटवाड़ी के अगोड़ा को ट्रैकिंग ट्रॅक्शन सेंटर चिन्हित किया गया है, इस ट्रैकिंग ट्रॅक्शन सेंटर के 02 कीoमीo की परिधि में पड़ने वाले गाँवो को लाभान्वित किया जाना है।

इस मौके पर डीएफओ संन्दीप कुमार सिंह, उपजिलाधिकारी भटवाड़ी देवेन्द्र सिंह नेगी, पर्यटन अधिकारी प्रकाश खत्री, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल, अवर अभियंता पीएमजीएसवाई सुभाष सिंह, ग्राम प्रधान आगोड़ा मुकेश पंवार, क्षेत्र पंचायत सदस्य अनुज कुमार, पूर्व जिला पंचायत सदस्य कमल सिंह, शिवराम सिंह अनिल रावत,धर्मेंद्र पंवार सहित अन्य
अधिकारी व ग्रामीण मौजूद थे l