उत्तरकाशी : 2 किलोमीटर पैदल चलकर जिलाधिकारी ने सुनी ग्रामीणों की समस्या

  • उत्तरकाशी INDIA 121

जिलाधिकारी डा. आषीष कुमार श्रीवास्तव दो किमी सड़क दूरी पर विकास खण्ड चिन्यालीसौड़ के दुरूस्थ ग्रामीण क्षेत्र जगड़गांव में मंगलवार को आयोजित जनता भेंट कार्यक्रम में 55 षिकायतें दर्ज की गई जिसमें सभी षिकायतों का मौके पर ही निस्तारण किया गया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये कि आम जनमानस की समस्याओं को गम्भीरता से लें। उन्होंने इण्टर कालेज दिचली के नवनिर्मित भवन को एक सप्ताह की भीतर अधिग्रहण करने के निर्देष मुख्य षिक्षा अधिकारी को दिये, कहा कि भवन में तत्काल पेयजल कनेक्षन की व्यवस्था कर नवरात्रि के दौरान विद्यालय संचालन करें। ग्रामीणों ने क्षेत्र में पानी की समस्या को लेकर पम्पिंग योजना की मांग की, जिस पर जिलाधिकारी ने जल निगम को पम्पिंग योजना का आगणन तैयार करने के निर्देष दिये। जगड़गांव मोटर मार्ग को लेकर दिचली गांव के कुछ ग्रामीणों की असहमती पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी एवं अधिषासी अभियंता पीएमजीएसवाई को निर्देष दिये कि क्षेत्र के प्रधानों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ 26 सितम्बर को बैठक कर मामले का निस्तारण करें। उन्होंने कहा कि दिचली एवं जगड़गांव के मध्य की उपजाऊ भूमि का कम से कम नुकसान हो इसके लिए बीच का रास्ता निकालने के निर्देष दिये।

इस दौरान जिलाधिकारी ने राजकीय प्राथमिक विद्यालय दिचली एवं जगड़गांव का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने उपस्थित बच्चों से ष्यामपट्ट पर गणित का जोड़, गुणा का सावल हल करने को दिया, जिसको बच्चों ने उत्सुकता के साथ दिये गये सवालों को हल कर जिलाधिकारी के सम्मुख अपनी प्रतिभा प्रदर्षन किया। जिस पर जिलाधिकारी ने सभी बच्चों को दुकान से टाफी मंगा कर वितरित किया। उन्होंने विद्यालय में मध्यान भोजन भी खाया तथा भोजन की गुणवत्ता का जायजा भी लिया।

कार्यक्रम में सड़क, पेयजल, विद्युत, सिंचाई, स्वास्थ्य, पेंषन एवं आर्थिक सहायता से संबंधी षिकायतें दर्ज की गई। जिलाधिकारी ने सभी षिकायतों को क्रमवार षिकायतकर्ता को आंमत्रित कर संबंधित विभाग के अधिकारी के सम्मुख उनकी षिकायत का निस्तारण किया। ग्राम प्रधान द्वारा गांव में तीन परिवारों को 200 मीटर दूर से पानी लाने की समस्या पर जिलाधिकारी ने अधिषासी अभियंता को तत्काल परिवारों को पेयजल लाइन से जोड़ने के निर्देष दिये। ग्रामीणों ने प्राथमिक विद्यालय बनकोट के लिए खतरा बने चीड़ के पेड़ को काटने की षिकायत जिलाधिकारी से की, जिस पर जिलाधिकारी ने वन विभाग को निर्देष दिये कि विद्यालय के लिए खतरा बने चीड़ के पेड़ को तत्काल मानक के अनुरूप पेड़ को कटवाने की कार्यवाही करें। क्षेत्र में सिचांई नहरों की मांग पर जिलाधिकारी ने अधिषासी अभियंता सिंचाई को सिंचाई नहरों का निरीक्षण कर प्रस्ताव बना कर प्रस्तुत करने के निर्देष दिये। ग्रामीणों की दिचली गाढ़ में बाढ़ सुरक्षा कार्य करने की मांग पर जिलाधिकारी ने अधिषासी अभियंता सिंचाई विभाग को निरीक्षण कर गाढ़ में बाढ़ सुरक्षा कार्य हेतु कार्यवाही करने के निर्देष दिये। वही ग्रामीणों को खेतों की सुरक्षा का भी आष्वासन दिया। क्षेत्र में एएनएम का पद रिक्त होने के कारण लोगों को स्वास्थ्य संबंधी हो रही परेषानी को देखते हुए जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देष दिये कि पंचायतवार महीने का रोस्टर तैयार कर, रोस्टर प्रत्येक पंचायत में चस्पा करें तथा रोस्टर के अनुसार संबंधित दिवस को संबंधित क्षेत्र में कार्य पर उपस्थित रहने के निर्देष दिये। क्षेत्र में बरसात के दौरान ग्रामीणों के भवन में दरार एवं दीवारे दरकने की षिकायत पर जिलाधिकारी ने तहसीलदार को षिविर के उपरान्तअ तत्काल निरीक्षण कर पी20 भरकर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देष दिये। उन्होंने विद्युत विभाग को क्षेत्र में खराब हुये ट्रासफमर बदलने एवं विद्युत पोलों को बदलने के निर्देष दिये, कहा कि क्षेत्र में विद्युत बिलों के भुगतान के लिए कैम्प लगाय।

बड़े विद्युत बकायदारों से किस्तों में भुगतान ले।
कृषि काष्त के दौरान चोटिल हुई कान्ता देवी पत्नी शम्भु सिंह को विकलांग प्रमाण पत्र बनाने के निर्देष मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिये, वही समाज कल्याण अधिकारी को निर्देष दिये कि इन्हें तीलू रोतेली पेंषन योजना से जोड़ा जाय। रोग से ग्रसित नन्ही बालिका हिमान्षी पुत्री हीरामणी के स्वास्थ्य उपचार आरबीएस के तहत उपचार कराने के निर्देष दिये। उन्होंने जोगत तल्ला प्राथमिक विद्यालय भवन का प्रस्ताव तैयार करने के निर्देष मुख्य षिक्षा अधिकारी को दिये। जगड़गांव में जनता भेंट कार्यक्रम से पूर्व जिलाधिकारी ने दिचली में ग्रामीणों की समस्यायें सुनी तथा अधिकारियों को समस्या के निस्तारण के निर्देष दिये।
इस अवसर पर उपजिलाधिकारी सौरव असवाल, जिला पंचायत सदस्य जोगेनद्र सिंह, प्रभारी मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. मेजर बचन सिंह, मुख्य पषु चकित्सा अधिकारी प्रलयंकर नाथ, मुख्य षिक्षा अािकारी रमेषचन्द्र आर्य,समाज कल्याण अधिकारी जीत सिंह रावत, मुख्य कृषि अधिकारी महिधर सिंह तोमर, प्रधान दिचली विक्रमलाल, प्रधान जगड़गांव श्याम सुन्दर नौटियाल, कोमल सिंह राणा, गोपालमणी सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।