उत्त्तरकाशी : मॉकड्रिल : कलेक्ट्रेट आवासीय कॉलोनी में कोरोना वायरस संक्रमण संदिग्ध

  • उत्त्तरकाशी
जिला प्रशासन कोविड-19 को लेकर पूर्णतया अलर्ट है। इसी को लेकर जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने   कंटेंटमेंट प्लान, कांटेक्ट ट्रेसिंग तथा सेक्टर मजिस्ट्रेट व कार्मिकों द्वारा किस प्रकार से कार्य किया जाना है इन सबकी तैयारियों को मॉक अभ्यास के द्वारा बारिकी से परखा।
      आपदा कंट्रोल रूम द्वारा वार रूम को जानकारी दी गई कि कलेक्ट्रेट आवासीय कॉलोनी में कोरोना वायरस संक्रमण संदिग्ध व्यक्ति है। जानकारी मिलते ही वार रूम द्वारा जिला चिकित्सालय से मेडिकल टीम कोविड एम्बुलेंस के साथ कलेक्ट्रेट आवसीय कालोनी संदिग्ध व्यक्ति (महिला) को लेने पहुँची। जहां लोगों में हड़कंप मच गया। महिला को जिला चिकित्सालय में स्थापित आइसोलेशन वार्ड लाया गया। उसके उपरांत महिला के चार परिजनों को भी क्वारन्टीन किया गया। एहतियातन पुलिस टीम द्वारा पूरी आवसीय कालोनी को सील कर दिया गया। सीज करने के बाद नगर पालिका द्वारा पूरी कॉलोनी को सैनिटाइज किया गया। उसके उपरांत मेडिकल सर्वे टीम यथा डॉक्टर, आशा,आंगनबाड़ी, पटवारी व पीआरडी जवान एवं फूड सप्लाई टीम वहां पहुंची।
    इंसिडेंट कमांडर चतर सिंह चौहान ने डोर टू डोर सर्वे टीम को कालोनी में निवासरत परिवारों व वहां की जनसंख्या के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि कालोनी में 150 मकान है, करीब 450 की आबादी है। उसके बाद टीम द्वारा  सभी घरों का सर्वे किया गया। सभी के मोबाइल नम्बर, कॉन्टेक्ट हिस्ट्री,जरूरी सामान की आवश्यकता आदि की जानकारी ली गई। सभी परिवारों से जिला आपातकालीन परिचालन से भी दूरभाष पर परस्पर वार्ता की गई। आवसीय कालोनी में बिजली, पानी से जुड़ी शिकायतों का संबंधित विभाग के कार्मिक द्वारा निराकरण किया गया।  *घबराइए नही यह कोविड 19 को लेकर जिला प्रशासन कितना तैयार है इसका मॉक अभ्यास किया गया है।*
मॉक अभ्यास में इंसिडेंट कमांडर की जिम्मेदारी ओसी/ डिप्टी कलेक्टर चतर सिंह चौहान को सौंपी गई। लाइजनिंग ऑफिसर जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल, इनफार्मेशन एंड मीडिया संरक्षक  सुरेश कुमार, सेफ्टी ऑफिसर पुलिस उपाधीक्षक कमल पंवार, ऑपरेशन सेक्शन चीफ, उप जिलाधिकारी भटवाड़ी देवेंद्र नेगी, प्लानिंग सेक्शन चीफ परियोजना निदेशक राजेंद्र सिंह रावत, लॉजिस्टिक्स सेक्शन चीफ अधिशासी अभियंता लोनिवि, ट्रांसपोर्ट ब्रांच एआरटीओ चक्रपाणि मिश्र, रिसोर्स यूनिट जिला पूर्ति अधिकारी गोपाल सिंह मटूड़ा डॉक्यूमेंट यूनिट अपर संख्या अधिकारी सुरेश नोटियाल, सर्विस एंड सपोर्ट ब्रांच तहसीलदार भटवाड़ी, मेडिकल यूनिट एसीएमओ,
फूड यूनिट डीएसओ/तहसीलदार भटवाड़ी, प्रोक्यूरमेंट वरिष्ठ कोषाधिकारी हिमानी स्नेही को जिम्मेदारी सोंपी गई।
ऑब्जर्वर  मुख्य विकास अधिकारी पीसी डंडरियाल, सीओ कमल पंवार,खंड विकास अधिकारी दृष्टि आनंद, डॉक्टर तरुण को बनाया गया।
जिलाधिकारी ने बताया कि कोविड 19 से निपटने के लिए मॉक अभ्यास में 13 टीमें बनाई गई थी जिन्हें त्वरित कार्यवाही के लिए अलग-अलग जिमेदारी सोंपी गई थी। सभी ने मॉक अभ्यास में अपने आप को भी सुरक्षित रखते हुए अच्छा कार्य किया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन कोविड 19 को लेकर पूर्णतया सतर्क व तैयार है।
 मॉक अभ्यास के दौरान पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट,सीवीओ डॉ प्रलयंकर नाथ सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।